हनुमान की जाति बताने वालों की लिस्ट हुई लंबी, किसी ने दलित तो किसी ने कहा ब्राह्मण

हनुमान की जाति बताने वालों की लिस्ट हुई लंबी, किसी ने दलित तो किसी ने कहा ब्राह्मण
उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर से सांसद हरि ओम पांडे ने कहा कि मुझे महाग्रंथ रामायण में मौजूद सभी पात्रों की जाति मालूम है. उन्होंने कहा कि हनुमान ‘ब्राह्मण’ थे.
नई दिल्लीः हनुमान की जाति को बताने वाले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं की लिस्ट लंबी होती जा रही है. जाति बताने वालों की सूचि में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर केंद्रीय मंत्री सतपाल सिंह समेत कई विधायकों का नाम सामने आ चुका है. नेता न सिर्फ उनकी जाति बता रहे हैं बल्कि उन्हें धर्मों में भी बांट रहे हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
जाति बताने की शुरुआत तभी से हुई जब एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने हनुमान को दलित और वंचित करार दिया था. राजस्थान के अलवर जिले के मालाखेड़ा में एक सभा को संबोधित करते हुए योगी ने कहा था, ”बजरंगबली एक ऐसे लोग देवता हैं जो स्वयं वनवासी हैं, गिर वासी हैं, दलित हैं और वंचित हैं.”
केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हनुमान की जाति बताई जिसके बाद बीजेपी नेताओ के बीच उनकी जाति बताने को लेकर होड़ मच गई. केंद्री राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा था, ”भगवान राम और हनुमान जी के युग में, इस देश में कोई जाति-व्यवस्था नहीं थी. कोई दलित, वंचित और शोषित नहीं था. हनुमान जी आर्य थे. इस बात को मैंने स्पष्ट किया है, उस समय आर्य जाति थी और हनुमान जी उसी आर्य जाति के महापुरुष थे.”

राष्ट्रीय अनूसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष
राष्ट्रीय अनूसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साय ने हनुमान को अनूसूचित जनजाति का बताया था. उन्होंने कहा था कि वो आदिवासी थे. नंद कुमार साय ने कहा कि लोग समझते हैं राम की सेना में वानर थे, भालू थे और गिद्ध थे. ऐसा नहीं है. हमारी जनजाति, हमारे समाज में गिद्ध और हनुमान गोत्र हैं. ये तो वो आदिवासी थे जो भगवान राम की लड़ाई में उनके साथ गए थे.

योगी के मंत्री ने बताया जाट
योगी सरकार में मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने विधान परिषद में हनुमान को जाट बता दिया. उन्होंने कहा कि, ‘ जो दूसरों को दिक्कत में देखकर कूद पड़ते हैं, वह जाट ही हो सकता है. इसलिए हनुमान जाट थे.’ उनके इस बयान के बाद विपक्षी दलों ने जमकर हंगामा मचाया.

आचार्य निर्भय सागर ने बताया था जैन
हनुमान की जाति को लेकर आचार्य निर्भय सागर ने उन्हें जैन करार दिया था. उन्होंने कहा था कि जैन धर्म के अहिंसा धर्म को शुरू से हनुमान ने स्वीकार किया इसलिए उन्होंने हिंसक युद्ध नहीं किया और इसलिए इससे ये साबित होता है कि हनुमान जैन थे.

बीजेपी सांसद ने बताया ब्राह्मण
उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर से सांसद हरि ओम पांडे ने कहा कि मुझे महाग्रंथ रामायण में मौजूद सभी पात्रों की जाति मालूम है. उन्होंने कहा कि हनुमान ‘ब्राह्मण’ थे. इसके अलावे उन्होंने रामायण के कई पात्रों की जाति बताई.

बुक्कल नवाब ने बताया था मुसलमान
बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब ने कहा कि हनुमान जी मुसलमान थे, मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मुसलमानों के नाम ही रहमान, सुल्तान, इमरान, जीशान, रिहान जैसे होते हैं और उसी तरह हनुमान नाम भी है इसलिए मेरा मानना है कि हनुमान जी मुसलमान थे.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

Exclusive: गठबंधन न होने के बावजूद कांग्रेस यूपी में मुलायम परिवार के खिलाफ नहीं उतारेगी उम्मीदवार!

🔊 Listen to this खास बातें ‘मुलायम के सामने कांग्रेस उम्मीदवार नहीं’ डिंपल के ख़िलाफ़ …